कुंडली में "नभस योग"

कुंडली में "नभस योग" ******************** वैदिक ज्योतिष में ज्योतिषीय योगों का बहुत महत्त्व है अर्थात किसी भी कुंडली में विभिन्न प्रकार के अनेकों योग होते हैं...! सामान्यतः ऐसे योग अपनी दशाओं में ही फल देते हैं क्योंकि ये पूर्णतया ग्रहों से ही सम्बंधित होते हैं...! ------------------------------------ लेकिन ज्योतिष में "नभस योग" भी होते हैं जिनका ज्योतिषीय दशाओं से कोई लेना देना नहीं होता है क्योंकि ये नभस योग सम्बंधित व्यक्ति के व्यक्तित्व एवं चरित्र को ही मूल रूप से उजागर करते हैं...! ---------------------------------------- किसी भी जन्म या लग्न कुंडली में राहु एवं केतु को छोड़कर शेष सभी सातों ग्रह अर्थात सूर्य, चन्द्रमा, मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र, शनि की भिन्न भिन्न राशियों में इनकी स्थिति, भिन्न भिन्न भावों में इनकी स्थिति और भिन्न भिन्न भावों में इनकी संख्या के आधार पर इनका वर्गीकरण और नामांकन किया जाता है अर्थात इनको निम्न नामों से जाना जाता है :- 1.रज्जु योग 2.मूसल योग 3.नल योग 4.कमल योग 5.पक्षी योग 6.गदा योग 7.यव योग 8.वज्र योग 9.शकट योग 10.हल योग 11.श्रृंगाटक योग 12.वापी योग 13.यूप योग 14.शर योग 15.शक्ति योग 16.दंड योग 17.नौका योग 18.क्रूर योग 19.छत्र योग 20.धनुष योग 21.चक्र योग 22.समुद्र योग 23.गोल योग 24.युग योग 25.शूल योग 26.केदार योग 27.पाश योग 28.दाम योग 29.वीणा योग ---------------------------------------- कोई भी व्यक्ति किसी भी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से अपने कुंडली में स्थित नभस योगों के माध्यम से अपने बारे में काफी कुछ जान सकता है...! इसके साथ ही इन योगों से जीवन में किस प्रकार से अधिक से अधिक लाभ लिया जाय, इसके बारे में भी परामर्श प्राप्त कर सकता है...! जीवन में समय रहते यदि किसी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से इस विषय में परामर्श ले लिया जाय तो निश्चित रूप से आप भी अपने जीवन में अतिरिक्त लाभ अर्जित कर सकते हैं और अनावश्यक हानि में कमी भी सुनिश्चित कर सकते हैं...! -------------------------------------- सदैव स्मरण रहे कि, ज्योतिष जीवन को एक दिशा देता है और इससे लाभ प्राप्ति के लिए किसी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से समय रहते ही परामर्श प्राप्ति ही उचित मार्ग है...! इससे आपके बहुत सारे भ्रम भी दूर होंगें और कष्ट में कमी और सुख में बृद्धि भी सुनिश्चित हो सकेगी...! 🙏🌹🌹🙏 अग्रिम शुभकामनायें ...! सुभाष वर्मा ज्योतिषाचार्य ज्योतिषाचार्य, नामशास्त्री, रंगशास्त्री, अंकशास्त्री, वास्तुशास्त्री, कुंडली, मुहूर्त ----------------------------------- केवल ज्योतिष - चमत्कार नहीं आत्मविश्वास बढ़ाएं - अन्धविश्वास भगाएं ----------------------------------- www.astroshakti.in ---------------------------------- [email protected] ---------------------------------- www.facebook.com/astroshakti

Written & Posted By : Subhash Verma Astrologer
Dated: :

Back to Jyotish Shakti

Login