राशिफल का भ्रमजाल

भारत में शायद ही कोई वयस्क व्यक्ति होगा जिसका प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से राशिफल से वास्ता ना पड़ा हो उसके अपने जीवन में अर्थात राशिफल से सभी लोग वाकिफ हैं । इससे सहमत होना या ना होना अलग बात है । भारतीय ज्योतिष के अनुसार कुल 12 राशियां होती हैं और भारत की जनसँख्या को यदि 120 करोड़ मान लिया जाय तो हर एक राशि के 10 करोड़ लोग आते हैं । अर्थात एक राशि के कम से कम 10 करोड़ लोग । राशिफल बताने वाले बताते हैं कि आज इस राशि वाले का दुर्घटना का योग है या आज इस राशि वाले को अचानक धन प्राप्ति का योग है । अर्थात उस दिन 10 करोड़ लोगों को दुर्घटना शिकार होना चाहिए या उस दिन 10 करोड़ लोगों को अचानक धन प्राप्त होना चाहिए । लेकिन सर्वविदित है कि ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है । विशेष बात यह है कि राशिफल सूर्य या चंद्र के गोचर के हिसाब से ही बताया जाता है लेकिन कोई भी राशिफल बताने वाला यह नहीं बताता कि वह सूर्य या चंद्र में से किसके अनुसार राशिफल बता रहा है । लेकिन आधे अधूरे ज्ञान से लैस जनता अपने हिसाब से इस राशिफल को पढ़ती है । अर्थात कुछ लोग अपनी सूर्य राशि के अनुसार राशिफल पढ़ते हैं तो कुछ लोग अपनी चंद्र राशि के अनुसार राशिफल पढ़ते हैं तो वहीं कुछ लोग अपने नाम के पहले अक्षर के अनुसार राशिफल पढ़ते हैं । हमें अपने जीवन में बहुत से ऐसे लोग भी मिले जो कि जब तक उनको अपने मन माफ़िक़ राशिफल नहीं मिलता वो एक के बाद दूसरा और दूसरे के बाद तीसरा भी राशिफल अलग अलग माध्यमों से पढ़ते हैं । प्रचलित कहावत है कि लोभी के देश में ठग कभी भूखा नहीं मरता और इस कहावत को हम यहां चरितार्थ होते हुए देख सकते हैं । भारतीय ज्योतिष के अनुसार जब एक व्यक्ति जैसा दूसरा कोई हो ही नहीं सकता तो फिर एक ही राशि के 10 करोड़ लोगों की दिनचर्या एक जैसी कैसे हो सकती है ? सदैव समरण रहे कि किसी भी व्यक्ति की दिनचर्या कभी भी किसी एक ग्रह या बात पर निर्भर नहीं रहती है । भारतीय ज्योतिष के अनुसार किसी भी व्यक्ति की दिनचर्या या घटनाक्रम बहुत सी चीज़ों पर आधारित होती है जिसका आकलन करना एक अत्यंत ही कठिन एवं जटिल कार्य है । अधिक स्पष्टता के लिए आप किसी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से सम्पर्क कर सकते हैं । और यदि आपको राशिफल में विशेष रुचि है तो आपके लिए यहाँ प्रस्तुत है सभी 12 राशियों के लिए विशेष राशिफल जो पूरे जीवन में प्रतिदिन के लिए लाभकारी सिद्ध होगा :- 1. अपना आत्मविश्वास और एकाग्रता बनायें रखें 2. अपनी वाणी और व्यवहार पर संयम रखें 3. अपने पुरुषार्थ का पूरा पूरा उपयोग करें 4. कोई भी निर्णय लेने में ज़ल्दबाज़ी ना करें 5. लेन देन में सावधानी बरतें 6. बिना देखे, बिना पढ़े और बिना समझे कहीं भी हस्ताक्षर ना करें 7. स्वास्थ के प्रति सचेत रहें 8. ट्रैफिक के नियमों का पालन करें 9. लोभ और क़र्ज़ से बचें 10. विवादों से दूर रहें 11. आँख मूँद कर किसी पर विश्वास ना करें 12. छोटों को प्यार एवं बड़ों को सम्मान दें अंततः सभी को हमारा परामर्श है कि उपरोक्त सभी 12 बातों को प्रतिदिन ध्यान में रखें और राशिफल के भ्रमजाल या मायाजाल से बचें और अपने कर्म के अतिरिक्त वास्तु एवं मुहूर्त का उपयोग कर अपने दिनचर्या में अनुकूलता में वृद्धि और प्रतिकूलता में कमी सुनिश्चित करें । अधिक मार्गदर्शन के लिए किसी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से परामर्श प्राप्त करें । आज समाज में आत्मविश्वास बढ़े और अन्धविश्वास भागे इसी के सन्दर्भ में मैनें यह लेख अपने प्राप्त ज्योतिष ज्ञान, ज्योतिष शिक्षा, ज्योतिषीय अनुभव, सामाजिक अनुभव, एवं व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर लिखा है । धन्यवाद ! सुभाष वर्मा ज्योतिषाचार्य www.facebook.com/astroshakti [email protected] www.astroshakti.in

Written & Posted By : Subhash Verma Astrologer
Dated: :

Back to Jyotish Shakti

Login