मकर संक्रांति

मकर संक्रांति 15 जनवरी को ही क्यों ? सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश (संक्रमण) का दिन मकर संक्रांति के रूप में जाना जाता है। और ज्योतिषीय गणना के अनुसार 14 जनवरी 2020 की मध्य रात्रि 26:06:45 पर (अर्थात 15 जनवरी 2020 को 02:06:45 am पर ) सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा अतः 15 जनवरी 2020 को 02:06:45 am से मकर संक्रांति का प्रारम्भ माना जायेगा । चूँकि प्रचलित मान्यता के अनुसार सूर्योदय के समय जो ज्योतिषीय दिन होता है उसी दिन को अगले दिन सूर्योदय तक माना जाता है इस प्रकार 15 जनवरी 2020 को दिल्ली में सूर्योदय का समय 07:16:32 am पर है अतः 15 जनवरी को मकर संक्रांति निश्चित है । मकर, कुम्भ, मीन, मेष, वृषभ, मिथुन राशि में सूर्य के बने रहने को उत्तरायण और कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु राशि में सूर्य के बने रहने को दक्षिणायन कहते हैं । 15 जनवरी 2020 से उत्तरायण का प्रारम्भ भी है अतः यह दिन अतिशुभ एवं विशेष माना जाता है । सूर्य का धनु से मकर राशि में प्रवेश (संक्रमण) प्रति वर्ष लगभग 20 मिनट देरी से होता है । ज्योतिषीय गणना के अनुसार तीन वर्षों में यह अंतर एक घंटे का तथा 72 वर्षो में पूरे 24 घंटे का हो जाता है। इसी कारण अंग्रेजी तारीखों के अनुसार सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश (संक्रमण) अर्थात मकर संक्रांति 72 वषों के बाद एक तारीख (दिन) आगे बढ़ जाता है। इसीलिए वर्ष 2008 से 2080 तक मकर संक्राति 15 जनवरी को ही होगी। पिछले 72 वर्षों से (1935 से) प्रति वर्ष मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही पड़ती रही है। और इस प्रकार 2081 से आगे 72 वर्षों तक अर्थात 2153 तक यह 16 जनवरी को रहेगी। विशेष : मकर संक्रांति हर वर्ष 14 जनवरी को ही पड़ेगी यह बिलकुल गलत धारणा है । अतः आप चाहें तो इस विषय में किसी ज्योतिष के ज्ञानी एवं अनुभवी व्यक्ति से परामर्श कर सकते हैं । आज समाज में आत्मविश्वास बढ़े और अन्धविश्वास भागे इसी के सन्दर्भ में मैनें यह लेख अपने प्राप्त ज्योतिष ज्ञान, ज्योतिष शिक्षा, ज्योतिषीय अनुभव, सामाजिक अनुभव, एवं व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर लिखा है I धन्यवाद ! सुभाष वर्मा ज्योतिषाचार्य www.facebook.com/astroshakti [email protected] www.astroshakti.in

Written & Posted By : Subhash Verma Astrologer
Dated: :

Back to Jyotish Shakti

Login